जीत सकते हैं दोबारा पार्टनर का भरोसा, अपनाएं ये टिप्स

0

आपसी रिश्तों की मजबूती विश्वास पर ही टिकी होती है और जहां विश्वास नहीं वहां रिश्ते की डोर कमजोर पड़ने लगती है। आत्मविश्वास ही वो कुंजी है जिसके दम पर संसार का कोई भी इंसान मुश्किल से मुश्किल काम को भी आसानी से कर सकता है और कामयाबी की मंज़िल तक पहुंच सकता है। यही विश्वास ही पति-पत्नी के रिश्तों को मजबूत बनाये रखता है। आत्मविश्वास किसी दुकान पर नहीं मिलता ये तो इंसान के अंदर ही मौजूद होता है बस ज़रूरत है तो उसे जागृत करने की। यदि किसी कारणवश आपके साथी का भरोसा आप पर से उठ गया है तो रिश्ते में दोबारा से प्यार लाने के लिए हमें अपने पार्टनर के दिल में विश्वास की भावना लानी होगी तभी हम अपनी शादी-शुदा जिन्दगी को बचा सकते हैं।

यह सच है कि भरोसा टूटने पर पति-पत्नी के रिश्ते में गहरी दरार आ जाती है। लेकिन अगर आप इसके बावजूद अपने रिश्ते को बरकरार रखने का प्रयत्न कर रहे हैं, तो यह याद रखना अच्छा होगा कि इसमें कई मुश्किलें आ सकती हैं, लेकिन आप हिम्मत मत हारिए, आपके द्वारा की गई कोशिश ज़रूर रंग लाएगी! आप एक-दूसरे का भरोसा फिर से जीत सकते हैं? ऐसे कई सुझाव हैं जिनके माध्यम से आप अपने जीवनसाथी का भरोसा फिर से हासिल कर सकते हैं। वैसे एक बार भरोसा टूट जाए तो उसे वापस पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। लेकिन नामुमकिन नहीं। दूसरे व्यक्ति में विश्वास जगाने में थोड़ा समय लगता है। जब विश्वास पैदा होता है तो उसका आदर करना जरुरी है। यदि इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो जो विश्वास पैदा होने में काफी समय लग सकता है उसे टूटते हुए एक पल भी नहीं लगेगा। इसलिए समय की नजाकत को समझना दोनों के लिए बहुत जरूरी होता है।

हम अपने मन में कई तरह के गलत संदेह पाल लेते हैं। इसी संदेह की वजह से हम अपना भरोसा किसी के लिए खो देते हैं और निर्णय लेते हैं कि इसे दोबारा कायम करने का कोई महत्त्व नहीं है। इसके अलावा, आपमें विश्वास से सम्बंधित समस्या पैदा हो जाती है और यदि ऐसा होता है तो वह रिश्ता ज्यादा नहीं चल सकता है। इसलिए निम्न तकनीक के जरिये आप अपने रिश्तों में फिर से विश्वास पैदा कर सकते हैं।

सही निर्णय लें :

यदि आप भरोसे को दोबारा कायम करना चाहते हैं तो खुद से वादा करें कि आप सब कुछ भुलाकर अपने जीवनसाथी को फिर से पहले की तरह प्यार करेंगे और उसकी हर बात को समझेंगे तो निश्चित ही सब कुछ ठीक हो सकता है। भरोसा खोने के बाद उसे वापस कायम करना जरा मुश्किल तो है लेकिन प्यार से किया गया हर काम सभी कड़वाहटों को दूर कर सकता है।

खुलकर बात करें :

कई मामलों में पति पत्नी किसी भी बात को शेयर करने से कतराते है और अपने मन में कई तरह के विचार लाने लगते हैं कि कहीं वे मेरे साथ कुछ गलत तो नहीं हो रहा है। जिस कारण उनमें अविश्वास की भावना पनपने लगती है। अपने पार्टनर से दर्द को बांटने में कोई बुरी बात नहीं है। ये जख्म के भरने का एक तरीका है। इससे आप दोबारा विश्वास करना भी सीख सकते हैं। शादी के रिश्ते में दो लोगों को अपने पार्टनर के साथ अपनी भावनाओं और मन की बातों को बांटना होता है। आपको अपने पार्टनर को बताना चाहिए कि आप उनके लिए कैसा महसूस करते हैं। साथ ही उन्हें ये भी बताएं कि उनके धोखे ने आपको कितना अंदर तक तोड़कर रख दिया है। इससे आप दोनों के बीच का खोया हुआ प्यार वापस आ सकता है और गलतफहमियां भी दूर होंगी।

वादों को पूरा करें :

हममे से बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो अपने पार्टनर से वायदा तो करते हैं लेकिन उस पर कायम नहीं रह पाते हैं और उनकी नाराज़गी से बचने के लिये तरह तरह के बहाने बनाने लगजाते हैं। मगर वे यह नहीं जानते हैं कि वादाखिलाफी से आपके पार्टनर का भरोसा आप पर से उठ सकता है। अपने पार्टनर का भरोसा पाने के लिये अपने किये गये वादों को जरूर पूरा करें और उनके दिल में अपनी खास जगह बनायें जिससे वह आपके ऊपर आंख मूंदकर भरोसा कर सके।

पुरानी बातों को न दोहरायें :

अपने बीते हुये बुरे वक्त को याद न करें क्योंकि यह आपके पार्टनर के बीच दूरियां बढ़ा सकता है। अपने पार्टनर का दोबारा भरोसा पाने के लिये अतीत को बिल्कुल भूल जायें। अगर अतीत को पकड़कर बैठे रहे तो आपके रिश्ते में खुशियां नहीं आएंगी। कड़वी यादों को भुलाना ही दोनों के भविष्य के लिए बेहतर होगा।

एक दूसरे को जानने का प्रयत्न करें :

शादी शुदा जिन्दगी में कपल्स के लिये एक दूसरे को जानना बेहद जरूरी होता है। यदि हम एक दूसरे को नहीं समझ पाते हैं तो आगे चलकर उनके लिये एक दूसरे पर विश्वास करना बहुत मुश्किल हो जाता है। ऐसे समय पर वह एक दूसरे से प्रश्न पूछें और विभिन्न मुद्दों पर एक दूसरे की पसंद, नापसंद के बारे में बातचीत करें। अपने रिश्ते की अहमियत को समझे और एक दूसरे पर विश्वास करने के लिए आश्वस्त रहें।

वापस करें कमिटमेंट :

जब तक आप अपनी शादी में पुरानी वाली कमिटमेंट नहीं देंगे तब तक उसमें विश्वास पनप ही नहीं पाएगा। अगर आपके पार्टनर ने आपको धोखा दिया है तो एक बार अपने रिश्ते को मौका जरूर दें। कमिटमेंट के बिना आप दोनों के रिश्ते में फिर से भरोसा नहीं आ पाएगा। इसके बिना रिश्ते में प्यार भी नहीं रह पाएगा

सही बात को जाने :

अक्सर आवेश में आकर बहुत से लोग सही बात को जाने बिना ही अपने पार्टनर पर तानाकशी करने लगते हैं कि आखिर उसने ऐसा अनर्थ क्यों किया कहीं मेरे साथ विश्वासघात तो नहीं हो रहा है। ऐसे रिश्ते को तुरंत तोड़ने की बजाय स्थिति के बारे में जानने की कोशिश करें फिर अपना पक्ष रखें और दूसरे का पक्ष भी सुनें। तभी आप अपने पार्टनर का विश्वास जीत पाएंगे और अपने वैवाहिक जीवन को बचा पाएंगे।

Share.

About Author

Leave A Reply